रविवार, 15 फ़रवरी 2009

अंतर्जाल युग का इंटरव्यू-एक सिफारिश !

यह इंटरव्यू तनिक पढ़ें तो ! मेरी सिफारिश है मान जाइए ! ये दो छोटे नन्हे मुन्ने घरौदा बनाने में कैसे मशगूल से हैं ! अहमन्यता ग्रसित हम बड़े लोग कैसे उन्हें हाशिये पर करते रहते हैं -इस तथ्य की बेपरवाह उपेक्षा कर के भी कि कल उनका ही है हमारा नहीं ! और उन्हें भी इसकी फिक्र नहीं है -वे भी अपने में ही मस्त हैं !
यह सिफारिश इसलिए नहीं कि क्वचिदअन्यतोअपि का उल्लेख उस इंटरव्यू में हुआ है -पर सच मानिए अंतर्जाल पर होने वाले इंटरव्यू के शिल्प और कलेवर के एक 'सजेस्टेड फार्म ' के लिए भी मैं यह सिफारिश कर रहा हूँ ।
साक्षात्कारी अंकित की उम्र अभी विवाह योग्य भी नही हई है -और साक्षात्कारित हिमांशु जी भी अभी उम्र के कच्चे ही हैं -पर चिंतन की परिपक्वता से आप्लावित , उज्ज्वल भविष्य के प्रति आश्वस्त करते हुए - इन दोनों सद्य युवा महानुभावों के बारे में ज्यादा नहीं लिख रहा क्योंकि इन्हे अपने चिट्ठाकार चर्चा में भी तो लेना है ना कभी ! मैं क्या उन्हें पूरा ज़माना भी इग्नोर करने की हिमाकत नहीं कर सकता ! आने वाला युग उन्ही का तो है !
तो पढ़ें यह इंटरव्यू !

15 टिप्‍पणियां:

  1. आभार इस लिंक के लिए. वैसे वही पढ़ रहे थे अभी. :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. सही सिफरिश की है आपने अरविन्द जी ..बहुत बढ़िया लगा यह साक्षात्कार

    उत्तर देंहटाएं
  3. bahut hi badhiya interview raha Himanshu ji ka.
    Ankit ne bhi badey hi suljhey hue tarike se prastut kiya hai.dhnywaad

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाकई अच्छा साक्षात्कार है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अरे सर जी !!
    धन्यवाद!! पर मैं तो पहले ही पढ़ भी आया और टिपिया भी आया !!!

    पर ......... मेरा सुंदर सपना टूट गया !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. मैं मुदित हूं और चकित भी कि इतना प्यार मिल सकेगा मुझे . आपकी अनुशंसा के लिये आपका आभारी हूं . अंकित को यह इंटरव्यू इस लिये देना पड़ा कि वो हठी हैं और मानते ही नहीं बिना अपनी बात मनवाये. स्नेहाकांक्षी .

    उत्तर देंहटाएं
  7. धन्यवाद हमें प्रोत्साहित करने के लिए...
    आपका स्नेह बस बरकार रहे तो आने वाला समय तो क्या सब कुछ हमारा होगा.....
    आपका अंकित

    उत्तर देंहटाएं

  8. धन्यवाद अरविन्द जी, और धन्यभाग हमारे
    जो आपकी सिफ़ारिश पर एक नायाब साक्षात्कार छूटने से रह गया ।
    और मैं इसे पढ़ कर वहाँ से कुछ ले ही आया हूँ ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत आभार इस लिंक के लिये. अभी जाकर पढते हैं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  10. आभार इस लिंक के लिए...will read now.."

    Regards

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर .
    बधाई
    इस ब्लॉग पर एक नजर डालें "दादी माँ की कहानियाँ "
    http://dadimaakikahaniya.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  12. संयोग से मैं पहले ही उस साक्षात्कार को पढ और टिपिया चुका हूं। बहुत मजेदार है। उस महत्वपूर्ण साक्षात्कार को नोटिस में लेकर और उसपर पोस्ट लिखकर एक अच्छी शुरूआत की है।

    उत्तर देंहटाएं
  13. धन्यवाद। इण्टरव्यूअर और इण्टरव्यूई, दोनो बड़े स्तर के हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  14. Aapka aabhar link k liye abhi interview padh kr aa rahi hun... Himansu ji ne jwab salike se diye hain unhen aur Amit ji ko bdhai....!

    उत्तर देंहटाएं

यदि आपको लगता है कि आपको इस पोस्ट पर कुछ कहना है तो बहुमूल्य विचारों से अवश्य अवगत कराएं-आपकी प्रतिक्रिया का सदैव स्वागत है !

मेरी ब्लॉग सूची

ब्लॉग आर्काइव