गुरुवार, 28 अक्तूबर 2010

मिथिलेश दुबे की याद है किसी को ?

आज मिथिलेश जी का फोन आया तो मुझे अच्छा लगा ,इतने  दिनों बाद उत्साह और ऊर्जा से लबरेज इस युवा ब्लॉगर की आवाज सुनायी दी ..मगर उसके बाद जो कुछ वे रौ  में कहते गए  सुन सुन कर मन व्यथित हुए बिना नहीं रहा ..उनके पिछले दो माह कठिन कष्ट के बीते हैं ...उन्होंने बताया कि  लखनऊ में उन्हें  डेंगू  हुआ और हालत क्रिटिकल होने पर उन्हें अपोलो हास्पिटल दिल्ली ले जाया गया ...उनकी सबसे बड़ी और उचित पीड़ा यह है कि उनके हमदम दोस्त ब्लागरों तक ने भी उनकी सुधि नहीं ली ...खबर मिलने पर कतरा कर निकल गए ...प्लेटलेट की कमी आखिर घर से लोगों के आने पर रक्तदान के बाद  दूर हुई ...और एक बार यह फिर पुष्टि हुई कि रक्त का सम्बन्ध ज्यादा घना होता है ....ब्लड इज थिकर दैन  वाटर बहरहाल वे इन दिनों कारपेट नगरी भदोहीं में अपने पैतृक घर पर स्वास्थ्यलाभ कर रहे हैं .

मिथिलेश ने अपने कुछ दोस्त ब्लागरों का नाम लेकर भी गिनाया और बताया कि खून देने की बात कौन कहे वे उन्हें देखने तक नहीं आये ..मैंने उन्हें एक बुजुर्ग की हैसियत से सलाह  दी और कहा कि मिथिलेश अब आपको जीवन की सीखें मिलनी शुरू हुई हैं ..एक तरह से यह दुनिया ऐसी ही है ,खुदगर्ज लोगों की ..चाहे वे ब्लॉगर हो अथवा न हों ....उन्होंने यह कहा कि बीमारी से ठीक होने पर किसी भी ब्लॉगर को यानि मुझे उनका यह पहला फोन है -सहसा एक ग्लानि बोध ने  मुझे  भी ग्रसित किया .मैंने ही कहाँ उनका कुशल क्षेम पूछा इन दिनों ..मैंने खुद को पंचायत चुनावों के नाम पर माफ़ किया और उन्हें अपनी  इस व्यस्तता की बात बतायी ...मगर सच कहता हूँ मुझे याद तो मिथिलेश की आई थी मगर हाँ फोन उन्हें नहीं कर सका ...और इसके पहले उनका ही फोन आ गया ..उन्होंने यह भी बताया  कि सतीश सक्सेना जी के मेल और काल्स जरुर आये मगर वे उनका जवाब देने की स्थिति में नहीं थे-सुन रहे हैं न सतीश भाई! मान  गए आपको बन्धु! औरों के बारे में तो बस यही कहा जा सकता है कि कोई मजबूरी रही होगी वर्ना यूं ही कोई बेवफा नहीं होता ......

 मिथिलेश धर दुबे 


  मिथिलेश जी से मैं साक्षात रूबरू हो चुका हूँ ..पहले विश्वास नहीं होता था कि वे सबसे कम उम्र के युवा ब्लागर हैं ...देखा तो सौ फीसदी इत्मीनान हो गया ..एक सुदर्शन ,मेरे बेटे की उम्र का नौजवान मेरे सामने था -गदह पचीसी की ओर खरामा खरामा पग बढ़ाता हुआ .....देश दुनिया ,जान  जहान के बारे में एक मासूम सी उनकी सोच से कहीं कुछ कचोट भी अनुभूत हुई थी मुझे ..कितना कुछ दुनिया को अभी जानना समझना है बच्चे को ...लेकिन उनका निश्छल व्यक्तिव उस समय मुखर था और मैंने उन्हें ढेर सारा आशीष देकर विदा किया था ...दुनिया को तो पूरी तरह हम भी आज तक नहीं समझ पाए हैं कितने अपनों  ने कैसे  कैसे दुःख पहुचाये हैं ,पीठ में छुरे घोपे हैं ..यह तो अभी बच्चा है ...और बच्चों के लिए तो दिल में हमेशा स्नेह ही उमड़ता रहा है ..आशीष ही ह्रदय से रेडियेट होता है ...

मिथिलेश जी  का बार बार ब्लॉग जगत की हाल चाल और नए तूफानों की जानकारी की  उत्कंठा से यह लग रहा था कि जनाब अब पूरी तरह  ठीक हो गए हैं ...मैंने उन्हें महफूज जी के गोलीकांड के बारे में भी बताया -लगा जैसे उनका खुद का दुःख दूर हो गया हो ...उनकी हाल चाल ,गोली कहाँ लगी छर्रे कितने लगे यह सब पूछते रहे ..यह तो अच्छा हुआ कि महफूज भाई ने मुझे यह सब जानकारी तफसील से दे दी थी इसलिए मुझे बताने में हिचक नहीं हुई ..फिर वे  वापस  ब्लॉग जगत के नए धमाकों पर केन्द्रित हो गए ...वाह रे मनुष्य का जिज्ञासु स्वभाव वह दुनियादारी से खफा होकर भी उसी का होकर बना रहता है .. मैंने उन्हें सहेजा कि भइया मेरे ,अभी आराम करो ,स्वास्थ्यलाभ करो .. छोडो ब्लागिंग वलागिंग ..जब वे नहीं माने तो मैंने उनके ही वेश्याओं पर एक लेख के जुमले में जवाब दे डाला -सुनो मिथिलेश ,ब्लागिंग मुई क्या है कि यह एक वैश्या की जवानी है जो हमेशा सदाबहार दिखती है ....जबकि होती कुछ और है ..अभी इससे दूर रह सको तभी खैर है ...हा हा ...अब वे शरमा के चुप हो लिए थे.....और मैं यही चाहता भी था ...

आप चाहें तो मिथिलेश जी का कुशल क्षेम इस नंबर पर -09457582334 जान सकते हैं ...वैसे वे अब स्वस्थ हैं और ब्लॉग जगत में धमाकेदार वापसी करने की नीयत रखते हैं .....कायनात सावधान हो ले ....

47 टिप्‍पणियां:

  1. मिथिलेश जी के स्वस्थ्यलाभ के लिये शुभकामनाएं!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. पिछले पंद्रह दिन में मिथिलेश की याद कई बार आई. न जाने कितनी बार उसके ब्लॉग पर हो आया. जब भी जाता वही उसकी पुरानी पोस्ट दिखाई देती. कई बार सोचा कि काम को लेकर व्यस्त होगा. लेकिन यह ख्याल नहीं आया कि वह बीमार भी हो सकता है. आपकी पोस्ट पढ़कर असली बात पता चली. मिथिलेश शीघ्र ही स्वस्थ हो जाए, यही कामना है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. 'वाह रे मनुष्य का जिज्ञासु स्वभाव वह दुनियादारी से खफा होकर भी उसी का होकर बना रहता है'

    bilkul sahi kahte hain!

    -मिथिलेश जी के स्वस्थ्यलाभ के लिये शुभकामनाएं!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. मिथिलेश के बारे में जानकार दुःख हुआ ,

    मिथिलेश को अपोलो दिल्ली आकर उन्हें मुझे फोन अवश्य करना चाहिए ! बीमार और असहाय, चाहे कोई भी क्यों न हो, मैं यथा संभव मदद अवश्य करता हूँ ! नियमित खून दाता होने के कारण भी मिथिलेश को मदद मिल जाती !

    इस नवजवान ब्लागर और बेहतरीन लेखक के पास समाज को, देने के लिए बहुत कुछ है , ऐसा मेरा विश्वास है ! समय के साथ एक दिन आपका यह अभिमन्यु अच्छा नाम कमाएगा ! !

    आप और मिथिलेश दोनों को हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  5. मिथिलेश जी शीघ्र स्वस्थ्यलाभ करे हार्दिक शुभकामनाएं
    regards

    उत्तर देंहटाएं
  6. मिथिलेश के स्वस्थ्यलाभ के लिये शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. मिथिलेश जी की अस्‍वस्‍थ्‍यता के बारे में जानकर दुख हुआ, आप माध्‍यम उनकी इस पोस्‍ट के माध्‍यम से उनके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिये शुभकामनायें ...।

    उत्तर देंहटाएं
  8. मिथिलेश जी, शीघ्र स्वस्थ हों।
    मैं स्वयं डेढ़ माह से अस्तव्यस्त हूँ। ब्लागिरी भी अनियमित हो गई है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. डेंगू..इतने बीमार..

    मुझे जहां तक याद है..एक बार मैने उनके ब्लॉग पर ही पूछा था..
    ..तबियत तो ठीक है?
    ..उन्होने वैसे ही उत्तर दिया..
    ..तबियत ही तो ठीक नहीं है।
    ..मैने सोचा ठीक नहीं है तो ठीक हो जाएगी..लेकिन इतनी खराब थी यह जान नहीं पाया..! जानता भी तो क्या कर लेता..! झूठी संवेदना के सिवा !
    ..स्वस्थ हैं जानकर खुशी हुई। ईश्वर उनको और तंदुरूस्त बनाए।
    ..आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  10. मिथिलेश जी शीघ्र स्वस्थ्यलाभ करे और जल्दी ही यहाँ फिर से उनका लिखा पढने को मिले ..इस दुआ के साथ ढेरों शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  11. अभी परसों रात ही उनकी लम्बी गैरहाज़िरी का ख्याल आया और सोचा कि फोन कर लूं ,रात गहरा चुकी थी फिर मित्रों के जमघट में बात आई गई हो गई लेकिन आज आपकी पोस्ट पढकर बेहद अफसोस हुआ ! उन्हें हार्दिक शुभकामनायें वे शीघ्र ही स्वस्थ हो ब्लागिंग में लौटें ,सानन्द जीवन सुख भोगें ऐसी कामना है !


    भाई सतीश सक्सेना साहब शायद इसीलिये अच्छे लगते आये हैं कि वे नेक दिल इंसान हैं !

    उत्तर देंहटाएं
  12. अरे, यह तो चौंकाने वाली खबर है। मिथिलेश बाबू लखनऊ आए और हमें खबर तक न हुई। दुख बीमारी में तो लोग गैरों के भी हालचाल लेने चले जाते हैं, ऐसे में एक ब्‍लॉगर लखनऊ में बीमार होकर पड़ा रहे और हम मिलने न जाऍं, यह कैसे हो सकता है। वैसे मुझे इस बारे में मिथिलेश से शिकायत है, वे बाहर से तो फोन करके हालचाल लेते रहते हैं, फिर लखनऊ में रहकर उन्‍होंने फोन क्‍यों नहीं किया?
    वैसे वे जहॉं भी रहें, स्‍वस्‍थ रहें। हमारी ईश्‍वर से कामना है कि वे शीघ्र स्‍वस्‍थ हों और फिर से ब्‍लॉग जगत में सक्रिय हों।

    उत्तर देंहटाएं
  13. किसी की पोस्‍ट न आने पर हम यही सोंचते रह जाते हैं कि वो काम को लेकर व्यस्त होंगे .. पर मित्रो का समय पर काम न आने की जानकारी अच्‍छी नहीं लगी .. मिथिलेश जी के स्वस्थ्यलाभ के लिये शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  14. मिथिलेश जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना. आपके पोस्ट से ही पता चला कि उन्हें डेंगू हो गया था.

    उत्तर देंहटाएं
  15. मिथिलेश जी से हम अब तक परिचित नहीं हो पाए. आपके माध्यम से उस व्यक्तित्व के बारे में जाना. उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना लिए. आभार आपका.

    उत्तर देंहटाएं
  16. पंडित जी… विषय व्यथित करने वाला है... मिथिलेश जी से हमारा परिचय, जैसा कि हर ब्लॉगर का होता है, हमारे प्रारम्भिक काल में मात्र कुछ टिप्पणियों का था… किंतु आज आपकी पोस्ट से हमारे द्वारा उठाये गए वे सवाल पुनः जीवित हो जाते हैं, जब हमने गुमशुदा ब्लॉगर्स की तलाशतो उसपर आपकी प्रतिक्रिया थी :
    कभी कभी मेरे दिल में भी ऐसयीच खयाल आया -आपने बहुत वाजिब बात उठायी ..आज मैं भी सोच रहा था ज्ञान जी भी लिखना बंद ही कर दिए हैं ..उन्हें अभी मेल भेजने की सोच रहा हूँ.
    हमें इतना तो पता होता ही है कि हमारे ब्लॉग पर कौन कौन बिना अनुपस्थित हुए आ रहा है. यदि वो अनुपस्थित हो जाए और कुछ समय तक अनुपस्थित रहे तो हमें उसकी सुध लेनी चाहिए, अपने टिप्पणी बॉक्स के स्वास्थ्य के लिए नहीं अपितु उस बेचारे के स्वास्थ्य के लिये. ऐसा करना सम्भव है और किया जा सकता है.
    मिथिलेश जी के साथ सहानुभूति है और वे स्वस्थ हैं, इस बात की ख़ुशी है. ईश्वर उन्हें स्वस्थ रखे!!

    उत्तर देंहटाएं
  17. अर्विन्द जी बहुत चिन्ता हो रही है मिथिलेश के बारे मे जान कर उसे फोन लगा रही हूँ लेकिन उस पर इन कमिन्ग काल की सुविधा नही है। कल फिर से देखती हूँ । उसके अच्छे स्वास्थ्य के लिये शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  18. मिथलेश के शीघ्र स्वस्थ लाभ की कामना......

    उत्तर देंहटाएं
  19. [मूल्यांकन से बाहर पोस्ट]

    अक्सर पढता था कि यह ब्लॉग जगत एक परिवार सरीखा है. क्या ऐसा होता है परिवार ? यह एक खराब संकेत है.
    मिथिलेश जी शीघ्र ही स्वस्थ हो.
    शुभ कामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  20. याद तो जरूर है लेकिन नियमित पढ़ना नहीं हो पाता और फिर परिवार को यदि सूचना ही न मिले तो दोष मत दें. मिथलेश को ईश्वर जल्दी स्वास्थ्य लाभ ले ऐसी मेरी कामना है. अगर मुझे किसी भी परिवार के सदस्य के बारे में ज्ञात होता है तो चाहे ख़ुशी हो या तकलीफ उससे मुखातिब जरूर होती हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  21. मिश्रा जी,
    आपके दिए हुए फ़ोन नो. पर तो किसी ने बात ही ठीक से नहीं की. मिथलेश के लिए बोला कि वो यहाँ पर नहीं हैं.
    याद तो जरूर है लेकिन नियमित पढ़ना नहीं हो पाता और फिर परिवार को यदि सूचना ही न मिले तो दोष मत दें. मिथलेश को ईश्वर जल्दी स्वास्थ्य लाभ ले ऐसी मेरी कामना है. अगर मुझे किसी भी परिवार के सदस्य के बारे में ज्ञात होता है तो चाहे ख़ुशी हो या तकलीफ उससे मुखातिब जरूर होती हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  22. Bahut achha laga ki,aapne ye aalekh likha...Mai swayam Mithilesh ji se kabhi ru-b-ru to nahee hui,lekin unki wyatha jayaz hai.Unke swaasthy laabh ke liye dua karti hun.
    Mahfooz ji ke bareme to qatayi kuchh pata nahee hai! Hairaan hun padhke!

    उत्तर देंहटाएं
  23. चलिए यह अच्छा है की स्वास्थ्यलाभ लेने के बाद पुनः सक्रीय हो जायेंगे.
    मुझे नीशू और पलक की याद भी बहुत आती है.

    उत्तर देंहटाएं
  24. याद तो हैं पर ब्लोग्गिंग से इतनी अपेक्षा ठीक नही. हम लोगों के १०० के ऊपर फेसबुक, ऑरकुट , ट्विटर इत्यादी पर दोस्त बनते हैं - सब किसी न किसी वजह से इन नेटवर्क पर आपके दोस्त हैं - या फिर बस नेटवर्क बढाने के नाम पर -
    पर फिर भी मन हिन्दुस्तानी है तो अपेक्षा बढ़ जाती है रिश्तों के प्रति हमारी संवेदशीलता की वजह से !

    उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की ईश्वर से आशीष !

    उत्तर देंहटाएं
  25. मिथलेश जी को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हो।

    उत्तर देंहटाएं
  26. मिथलेश जी के लिए शुभकामनायें ...शीघ्र स्वास्थलाभ करें

    उत्तर देंहटाएं
  27. मिथिलेश जी को स्वास्थ्य लाभ की शुभकामनायें .... उनके व्यक्तित्व के बारे में जीवंत परिचय अच्छा लगा.....आभार

    उत्तर देंहटाएं
  28. अरविंद जी,
    आपका आभार जो मिथिलेश के बारे में जानकारी दी...पहली बार इसी पोस्ट से पता चला कि मिथिलेश बीमार है...ऐसे में अगर ब्लॉगर बिरादरी को पता ही नहीं चलेगा तो वो हालचाल कैसे लेगी...मिथिलेश के बारे में जिन्हें भी पता था, उन्हें बहुत पहले ही पोस्ट या किसी और माध्यम से सबको बताना तो चाहिए था...बहरहाल मिथिलेश और महफूज़ जैसे नौजवान देश का भविष्य है...उम्मीद करता हूं कि दोनों जल्द ही स्वस्थ होकर रूटीन में लौटेंगे...अपनी सारी सकारात्मक ऊर्जा के साथ....

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  29. ओह ! तो इसलिए इतने दिनों उनकी कुछ खोज खबर न थी .....मिथिलेश जी जल्द ही पूर्ण स्वस्थ हो यही शुभकामनाएँ है ...

    उत्तर देंहटाएं
  30. मिथिलेश के शीघ्र स्वास्थय लाभ के लिए मंगलकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  31. ब्लॉग में भी आम जिंदगी जैसे लोग ही मिलते हैं दोस्त.. अच्छे और बुरे दोनों.. अरविंद सर ने सही कहा कि जिंदगी कि सीख मिलनी अभी शुरू हो रही है, इन अनुभवों का असर धीरे धीरे आपके लेखन पर भी पड़ेगा.. एक घटना सुनाता हूँ आपको, जो ब्लोगरों से ही जुड़े हुए हैं.. अभी इसी शनिवार को मैं भागा भागा दिल्ली गया था जहाँ मेरी दीदी को भी डेंगू हुआ था.. मैंने सिर्फ गिने-चुने तीन ब्लोगर दोस्तों को ही खबर की थी मदद के लिए.. वहाँ जाकर ब्लड डोनेशन की तो जरूरत नहीं पड़ी, मगर हर दिन दो-तीन दफे वे ब्लोगर मित्र फोन करके हालचाल लेते रहे और कहते रहे कि बस दो घंटे पहले बता देना कि ब्लड डोनेट करने कब आना है..

    आप स्वास्थ लाभ लें..

    ये मिथिलेश से बातें हो रही है, आपके लिए ऐसी भाषा का प्रयोग ना होता.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  32. मिथलेश कई दिनों से चैट पर भी नहीं दिखे।
    तो मैने सोचा कि प्रभात खबर में कुछ ज्यादा व्यस्त हो गये।
    इनकी बीमारी की खबर आपकी पोस्ट लगी।

    शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  33. रेखा जी ,
    हो सकता है गाँव में किसी और ने महफूज का फोन उठा लिया हो या फिर कोई क्रास कनेक्शन हुआ हो .
    क्षमा जी ,
    महफूज के साथ हुए वाकये का विवरण यहाँ भी है -
    http://deshnama.blogspot.com/2010/10/blog-post_29.html

    उत्तर देंहटाएं
  34. आदरणीय मिश्रा जी

    आपका बहुत बहुत धन्यवाद जो आपने मिथिलेश जी के बारे में अवगत कराया ...आपकी पोस्ट से आज पहली बार उनको जान्ने का अवसर प्रदान हुआ है

    ... भगवान् उन्हे जल्दी स्वस्थ करे और वो जल्द हमारे बीच अपनी रचनाएँ ले कर पधारें ...

    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  35. अक्सर यही होता आया है कि किसी ब्लॉगर की पोस्ट काफ़ी दिनों तक नहीं दिखने पर हम उसे "व्यस्त" समझ लेते हैं… चूंकि फ़ोन नम्बर होता नहीं है या कई बार लगाने की याद नहीं रहती और ऐसे बात टलती चली जाती है…।

    मिथिलेश उर्जावान युवा ब्लॉगर हैं और उनका उत्साहवर्धन करते रहते हैं… अब आपने नम्बर दे दिया है तो बात करते हैं… और कुशलक्षेम पूछते हैं…। जानकारी के लिये आपका आभार…

    उत्तर देंहटाएं
  36. मैं तो खुश थी कि मिथिलेश शायद अपने कैरियर पर इतना ध्यान दे रहा है....
    बीमार है यह ख़याल तो आया ही नहीं.

    शीघ्र स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिये शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  37. मिथिलेश जी शीघ्र स्वस्थ्यलाभ करे हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  38. मिथिलेश जी के स्वस्थ्यलाभ के लिये शुभकामनाएं!! लेकिन शिकायत है,उन्‍होंने फोन क्‍यों नहीं किया?
    उन्हें किसी माध्यम से सबको बताना तो चाहिए था...

    उत्तर देंहटाएं
  39. मिथिलेश दुबे जी को स्वस्थ्य लाभ के लिए मैं दुआ करता हूँ !

    वैसे मैं आप सबको बता दूं की मिथिलेश दुने जी मेरे अभिन्न ब्लॉग-मित्र हैं
    !

    उत्तर देंहटाएं
  40. अरे मुझे तो पता ही नहीं था। वे जल्दी ठीक हों।

    उत्तर देंहटाएं
  41. मिथिलेश जी की अस्‍वस्‍थ्‍यता के बारे में जानकर बेहद दुख हुआ! ईश्वर से उनके स्वास्थयलाभ हेतु प्रार्थना करता हूँ!!!
    वे जल्द पुन: वापसी करें..

    उत्तर देंहटाएं
  42. आपकी पोस्ट से दो ब्लोगर्स की परेशानी के बारे में पता चला ।
    पढ़कर हम अपनी परेशानी भूल गए ।
    कुछ समय पहले ही महफूज़ भाई से बात हुई है । वह अब बिल्कुल ठीक हैं ।
    मिथलेश भी अब ठीक है , यह जानकर अच्छा लगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  43. Mithilesh ji ke liye shubhkaamnayin. Magar main manata hun ki aabhasi jagat se jyada apekshayein nahin hi rakhani chahiye, sivaye unse jinse vyaktigat rup se vakif hon.

    उत्तर देंहटाएं

यदि आपको लगता है कि आपको इस पोस्ट पर कुछ कहना है तो बहुमूल्य विचारों से अवश्य अवगत कराएं-आपकी प्रतिक्रिया का सदैव स्वागत है !

मेरी ब्लॉग सूची

ब्लॉग आर्काइव