शुक्रवार, 8 अप्रैल 2011

रेडी टू कुक हैदराबादी बिरयानी:पछतायेंगे न खाने वाले!

पता नहीं पिछली बार हैदराबादी बिरयानी कब खायी थी मगर इस बार जो खाया तो मुरीद हो गया! अब माल और फ़ूड मार्ट श्रृंखलाओं का ऐसा ज़माना है कि इनकी तांक झाँक करते रहने पर  पर कुछ नए उत्पादों ,व्यंजनों ,रेसिपी (नुस्खों)  पर नजर टिक ही जाती है ...ऐसा ही हुआ जब कोई दो  माह पहले स्थानीय स्पेंसर के स्टोर में मुझे  Knorr की  रेडी टू कुक हैदराबादी बिरयानी नजर आयी.. रेडी टू  कुक और रेडी टू  ईट व्यंजन आईटमों की भरमार है इन दिनों जो तुरन्ता या चटपट व्यंजनों की श्रेणी में आती हैं .रेडी टू ईट जहाँ बस गरम कर तुरंत भकोसने के आईटम हैं वहीं रेडी टू कुक रेसिपी आपके पाक शास्त्र के ज्ञान का भी तनिक इम्तहान लेती है और कई सामग्री  आपको भी और जोड़ना /जुगाड़ना होता है !

 रैपर पहचान के लिए
Knorr की हैदराबादी बिरयानी का कुछ मत पूछिए -बस लाजवाब है! इसकी सुगंध इतनी क्षुधावर्धक है कि बिरयानी तैयार होने के पहले ही 'क्या करें कंट्रोलै नहीं होता " वाली  भूख जगा देती है ...आप तो जानते ही हैं कि स्वाद और सुगंध का तो बस चोली दामन का साथ है ..सुगंध और स्वाद दोनों के मिले जुले प्रभाव से ही किसी भी व्यंजन का जायका बनता है .कहना नहीं है कि सुगंध के साथ ही इस  बिरयानी का स्वाद भी बेमिसाल है ..यही कारण है कि एक बार खायेगें तो बार बार खायेगें के तर्ज पर मैं जब दुबारा इसकी खोज में स्पेंसर पहुंचा तो यह प्रोडक्ट नदारद था ..मैंने वहां नोट कराया और हर दूसरे तीसरे दिन इसे पूछता पंछोरता रहा मगर यह तो स्पेंसर ही नहीं पूरे बनारस शहर से ही गायब थी ... मैसिव हंट कम्पेन बेनतीजा रही ....मैंने हर जगह इसके नए स्टाक की आमद पर खुद को इत्तिला करने की गुजारिश कर रखी थी ....कल रात स्पेंसर से ही मोबाईल पर इत्तिला मिली की इस प्रोडक्ट की नयी खेप आ गयी है -बस सुबह ही पहुँच कर मैंने आज के मेनू का एक और रिजर्व स्टाक के तीन कुल चार पैकेट ले लिए हैं ....आप  आज आ जायं या आगे जब भी तो हम आपको यह बिरयानी जरुर खिलना चाहेगें! 

यह भी दावे के साथ कहना चाहते हैं कि  वे गृहणियां जिनके वे  रूठे हुए हों ,कुछ खटपट या अनबन चल रही हो तो इसे एक ट्राई दे सकती हैं ..बिरयानी खाते ही सब मामले रफा दफा होने की गारंटी ..और प्रेमिका को इम्प्रेस करना चाहते हैं तो इसे  खुद बनाकर जरा अपनी उनको /मंगेतर को जिमा दे बस ..फिर देखें नतीजा!क्या कहा बनाना नहीं आता ? बेहद आसान ..इस प्रोडक्ट  के रैपर पर पाक विधि लिखी है जो बेहद आसान सी है ..बस कुछ सामग्री जुटानी पड़ेगी ....इस समय ३५ रुपये प्रति पैकेट के साथ दस रूपये का एक नूडल सूप भी फ्री मिल रहा है -आम के आम गुठलियों के दाम! नूडल सूप भी सूप श्रृंखला का नया उत्पाद है जिसमें सूप के साथ नूडल का भी मजा है या यूं कहें कि नूडल के साथ सूप का मजा भी!मुझे यह उत्पाद भी बहुत पसंद है!

तो बतायें आप भी कब निमंत्रित कर रहे हैं मुझे भी अपनी Knorr  बिरयानी पार्टी में ? :)

कंफेसन:
१-अन्ना हजारे साहब के अनशन को देखते हुए और अनशन स्थल पर कई लोगों के उपवास से अस्वस्थ होने की खबर `पर मेरी चेतना /नैतिकता बार बार यह पोस्ट जारी न करने को मना कर रही थी ..मगर उन सभी से जो जन लोकपाल विधेयक और देश से भ्रष्टाचार हटाने की मुहिम में लगे हैं  इस   क्षमा याचना के साथ कि यह पोस्ट दैनन्दिन जिन्दगी का एक गौण सा हिस्सा है और किसी भी तरह उनके अवदानों की उपेक्षा में नहीं है ,इसे जारी कर रहा हूँ! बिरयानी खाकर या न खाकर भी हम भी उस मुहिम का हिस्सा हैं!

२-यह किसी भी तरह से नार के उत्पाद का विज्ञापन नहीं है!जैसा पाया ,अनुभव किया यहाँ लिख दिया!  उपभोक्तावाद का समर्थन मैं भी नहीं करता -मगर कुछ उत्पाद  अपवाद भी हो जाते हैं !आप जानते ही हैं!
३-बिरयानी एक मुगलई व्यंजन है जो प्रायः मांसाहारी होता है मगर इसके शाकाहारी वर्जन भी बेहद जायके वाले होते हैं जैसे यह हैदराबादी बिरयानी! बिरयानी के कुछ और इंट्रा -कंट्री प्रकार यहाँ  हैं !

51 टिप्‍पणियां:

  1. स्वाद तो ठीक है पर उसके अंदर माल क्या क्या था :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. पोस्ट के लिखने से पहले ही मार्केट से गायब हो गई !
    अब लिखने के बाद क्या होगा ? :)

    अभी निकलते हैं ढूँढने --कहीं दिल्ली में भी गायब न हो गई हो ।
    कृपया अन्ना हजारे से न जोड़ें । जिंदगी कभी रूकती नहीं ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. हमको लगा कहीं मुर्गा बिरयानी की तो बात नहीं कर रहे आप, तो हम तो पढ़ के ही रह जाते. वैसे अपना आजकल तो रेडी तो कूक ही डिन्नर होता है अक्सर.

    उत्तर देंहटाएं
  4. हमें तो हैदराबाद में चखा स्‍वाद ही याद है और वही भाता है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. रेडी टू ईट फ़ूड स्वाद में अच्छे होते हैं पर सेहत के लिए खतरा ........ वैसे नवरात्री के उपवास के दिनों में ऐसी स्वादिष्ट पोस्ट आना ....थोड़ी तकलीफ देह है मेरे लिए भी ... :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. सर मैं तो नोर सूप का दीवाना हूँ पर अभी तक इस नए उत्पाद पर नज़र नहीं पड़ी. चलो कल ही देखता हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  7. कल खरीद कर लता हूँ ....यह एड नहीं है :-) ...तो और क्या है डॉ साहब ! ललचा दिया आपने !

    उत्तर देंहटाएं
  8. स्वादिष्ट तो है पर बहुत oily है

    उत्तर देंहटाएं
  9. कुछ दिनों से हमारी मेनू में शामिल है . महाराजिन (कुक ) के ना आने पर मुश्किलात काम हो गया है .

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपके आतिथ्य का स्वाद अभी भी जुबान और जेहन में घुला हुआ है और फिर इस बिरयानी के आमंत्रण ने तो अधीर कर दिया है ..

    उत्तर देंहटाएं
  11. कई बार ट्राई किया, पर ये रेडी टू कुक न हमें और न बच्चों को कभी पसंद न आया।
    मजबूरी की बात और है।

    उत्तर देंहटाएं
  12. रेडी टू कुक का स्वाद थोड़ा कम ही भाता है हम तो घर पर खुद ही बिरयानी बनाते हैं, और यकीन मानिये कि आप इस रेडी टू कुक को भूल जायेंगे, कभी आईये और वैसे भी बिरयानी में सारा खेल केवल मसाले का है।

    वैसे अभी नाश्ते में पास्ता खाया जा रहा है, वह भी रेडी टू कुक नहीं, खुद बनाया हुआ :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. .
    कभी निट्ठल्ले की रेडी टू कुक खिचड़ी मिक्स भी ट्राइ करें, भगवन !

    उत्तर देंहटाएं
  14. जब घर में भाभीजी जैसी परफेक्ट कुक है , तो खाने के लिए बाजार की खाक छानना ...सिर्फ मार्केटिंग का फंडा ही लग रहा है !

    हमारे घर में भी कोई पसंद नहीं करता ...एक बार लाये थे , एक कौर भी नहीं खाया किसी ने , उससे अच्छा है की दलिया /खिचड़ी बना कर ही खा लिया जाए !

    उत्तर देंहटाएं
  15. हैदराबादी बिरियानी का मज़ा तो हैदराबाद में ही खाने से आता है:) तो .... हैदराबाद में आपका स्वागत है ॥

    उत्तर देंहटाएं
  16. @अली सा,
    घर तो लाईये खुद ब खुद् पता लग जाएगा !
    @डॉ मोनिका शर्मा,
    खेद है और दुसरे नवरात्र भक्तों से -
    समापन इसी से करियेगा !
    @रश्मि रविजा ,
    बिरयानी और आयली ?

    उत्तर देंहटाएं
  17. @प्रवीण जी
    नार का सूप तो ठीक अब इसका भी जायका तो लें
    @डॉ. अमर कुमार ,
    निठल्ला कोई नया ब्रांड लगता है रेसिपी तो भेजिये

    उत्तर देंहटाएं
  18. @वाणी गीत ,
    पसंद अपनी अपनी ख़याल अपना अपना
    दलिया खिचडी तो रोगियों का आईटम है !

    उत्तर देंहटाएं
  19. @सी एम् जी
    दौलत खाने पर जरुर आयेगें, वादा!

    उत्तर देंहटाएं
  20. क्‍या इसे खाते हुए आपको उस जानवर के दर्द का अनुभव हुआ, जिसे काट कर उसका मांस इसमें प्रयोग में लाया गया?

    उत्तर देंहटाएं
  21. @अनाम
    मांस ?
    यह तो मसाला है केवल !
    ग्रीन चिह्न भी बना है !

    उत्तर देंहटाएं
  22. साहब! ये तो कभी हमें पसन्द ही नहीं आया

    उत्तर देंहटाएं
  23. अभी तो व्रत चल रहा है। मगर आपने यह बहुत बढ़िया काम किया।
    बिन नार कुछ दिन रहने का आधार दे दिया।
    नार बिरयानी! वाह! क्या बहार लाने वाली पोस्ट है!

    उत्तर देंहटाएं
  24. रेडी टू ईट में सिर्फ हल्दी राम की कड़ी पकोडा ही अच्छा लगता था ..अब यह ट्राई करते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  25. हमारी बीबी हर तरह का खाना बहुत स्वदिष्ट बनाती हे, इस लिये हमे कभी इन बने बनाये पाकेट की जरुरत ही नही पडी, वैसे भी ताजा खाना घर का बना ही हमे अच्छा लगता हे, पाकेट मे बंद खाना ना बाबा ना....

    उत्तर देंहटाएं
  26. बीमारों का भोजन सही है तो अपना ...बिरियानी वाले स्वाधिष्ट मसाले डाल कर बनाये तो उसके स्वाद को भी मात करेगा ...रेडी टू ईट वाली बिरियानी से हर हाल में बेहतर ही होगा ...

    उत्तर देंहटाएं
  27. लगता है आपने खुद नहीं बनाए ...जिन्होंने बनाए उनसे पूछिए कितने स्पून घी के लगे थे :)

    उत्तर देंहटाएं
  28. @रश्मि जी,
    @-बस दो tbs तेल और बाद में एकाध चम्मच घी !बस इत्ता ही!
    चार लोगों के लिए एक नोर पैकेट की मात्र है यह !आप खुद चेक कर लीजिये न !
    भेजूं क्या एक पैकेट !:)
    http://www.wellsphere.com/healthy-cooking-article/knorr-hyderabadi-chicken-vegetable-biryani-dal-makhani/793015
    अब इतना तो कभी कभार चलता है -वैसे मैं हैवी वेट हूँ यह भी सच है!Anyway Thanks!
    @देवेन्द्र जी
    कोई गलतफहमी मत पाले रहिएगा ..इस नार से उस चतुर नार का कोई दूर दराज का भी सम्बन्ध नहीं है !

    उत्तर देंहटाएं
  29. आपके द्वारा लिंक भेजा लिंक भी देख लिया...वहाँ भी 6 स्पून तो लिखा ही है...और बनाते वक्त उस से ज्यादा ही लग जाता है......
    चावल बनाते समय घी डाला जाता है....फिर बाद में चावल में भी घी मिलाया जाता है ताकि दाने अलग-अलग रहें...सब्जियां ,मसाले ..पकाने में भी घी लगता है...बर्तन में घी का लेप लगा कर परतें लगाई जाती हैं...आयली नहीं हुआ..??

    पर कभी-कभी खाने में कोई हर्ज़ नहीं...बस मुझे ज्यादा पसंद नहीं...

    उत्तर देंहटाएं
  30. आजकल मैं भी अकेला हूँ लेकिन गेस्ट हाउस के कैंटीन में खा रहा हूँ। इसे आजमाने का कोई चान्स नहीं है।

    छात्र जीवन में सब्जियों को मिलाकर चावल की मसालेदार ‘तहरी’ बनाया करता था। इसे खाने वाले दोस्त बहुत तारीफ़ किया करते थे। यह बिरयानी उसी टाइप की कोई चीज है या अलग? एक बार रेलगाड़ी में वेज-बिरयानी खाया था जो हमारी ‘तहरी’ का घटिया संस्करण लगा था।

    उत्तर देंहटाएं
  31. आज कल मैं भी रेडी टू कुक आइटम्स की ही खोज में रहता हूँ. हाल ही में लिए 'डोसा' के पैकेट पर फिलहाल हाथ आजमाया जा रहा है, अब इसे भी ढूंढता हूँ. धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  32. नार की हैदराबादी बिरयानी का

    uff kyaa likh diyaa !!!!!

    क्नोरर की हैदराबादी बिरयानी का

    yaa

    नोर की हैदराबादी बिरयानी का

    likhdatey yae नार नवेली कहां से ले आये

    उत्तर देंहटाएं
  33. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  34. अगर हैदराबादी दोस्तों के हाथ की बनी बिरयानी खाने को मिले तो फिर दूसरे साधन को देखना भी क्यों..

    उत्तर देंहटाएं
  35. @रचना,
    Thanks for tips on how to correctly pronounce the word Knorr!
    However views are divergent:
    http://answers.yahoo.com/question/index?qid=20070306001303AARKJjo

    But does it matter in any way to change the taste of product? Just enjoy it ..being a food connoisseur yourself!

    उत्तर देंहटाएं
  36. @Knorr (pronounced /ˈknɔr/, often pronounced /ˈnɔr/ in the English-speaking world)
    http://en.wikipedia.org/wiki/Knorr_%28brand%29

    उत्तर देंहटाएं
  37. but its not नार !!!! in any case nad i am dont prefer to eat ready to cook its fun to cook , improvise and cook and then eat

    and i just found it hilarious नार and knorr so thought let me put in my thoughts

    उत्तर देंहटाएं
  38. @Okay ,let it not look anyone 'hilarious'..so made the changes!

    उत्तर देंहटाएं
  39. thanks and in my previous comment nad the typing error is regretted

    उत्तर देंहटाएं
  40. मेरे शहर की बिरयानी के प्रचार के लिए धन्यवाद ...

    उत्तर देंहटाएं
  41. http://www.kitchensofindia.com/products_online_shopping.asp

    i would highly recommend this mr mishra i am asked to carry these abroad for my clients in italy when ever i go there

    it slipped out yesterday thought let me put it for future reference of your readers

    उत्तर देंहटाएं
  42. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  43. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  44. ज़माना भले ही 'रेडी टु कुक' का हो लेकिन आनंद 'लेडी-कुक्ड ' (कुक्ड बाय लेडी) में ही है |

    उत्तर देंहटाएं
  45. नॉन लहसुन प्याजेटेरियन के लिये कोई रेसिपी है? इसमें तो पहला आइटम ही चिकेन है! :(

    उत्तर देंहटाएं
  46. नहीं ज्ञानदत्त जी ,चिकेन या सब्जियों का विल्कप है !यह प्रोडक्ट पूरी तरह वेज है!यह खाने वाले की पसंद के ऊपर है वह चिकेन बिरयानी प्रिफर करता है या वेजिटेबल!
    मसाला दोनों का एक है !

    उत्तर देंहटाएं

यदि आपको लगता है कि आपको इस पोस्ट पर कुछ कहना है तो बहुमूल्य विचारों से अवश्य अवगत कराएं-आपकी प्रतिक्रिया का सदैव स्वागत है !

मेरी ब्लॉग सूची

ब्लॉग आर्काइव