रविवार, 25 जनवरी 2009

सी हाऊ हिन्दी ब्लाग्स हैव अचीव्ड ए स्लम डाग सक्सेस !

सोचता हूँ लगे हाथ स्लमड़ाग शब्द की मीमांसा भी कर ली जाय .समीक्षकों की दरियादिली ऐसी है कि इसे साढे चार स्टार से नवाजा जा चुका है और आस्कर की कई श्रेणियों के लिए यह नामित हो चुकी है .कोई आश्चर्य नही कि इसे कोई /कई आस्कर मिल ही न जायं ! तो आईये इसके नाम को लेकर थोड़ा पूर्वाभ्यास कर ही लिया जाय ।
अभी तक यह शब्द किसी भी डिक्शनरी में नही है .विदेशी भाष्यकार बोल रहे हैं यह शब्द दो शब्दों के योग से बना है -स्लम और अंडरड़ाग (underdog )! स्लम बोले तो झुग्गी झोपडी ! और अंडरड़ाग शब्द को आईये आक्सफोर्ड एडवान्स्ड डिक्सनरी में पहले देख लेते हैं -a person ,team ,etc thought to be in weaker position ,and therefore not likely to win a competition ,fight ,etc-usage example-Before the match we were definitely the uderdogs. तो मतलब यह कि झुगी झोपडी का सीकिया पहलवान ! अब इस शब्द को गढ़ने के पीछे असली मंशा तो इसके निदेशक डैनी बोयल ही जानते होंगे .पर इसके पक्षधर स्लम + अंडरड़ाग= स्लमड़ाग का ही आलाप ले रहे हैं !
मगर इस शब्द का एक सहज बोध तो यही है कि झुगी झोपडी का कुत्ता ! जैसे कि धोबी का कुता ( न घर का न घाट का ) या गली का कुत्ता ! तो अब इन कहावतों में अब एक इजाफा होकर कुत्ता कहावत का नया संस्करण आ गया है -अरे यार यह तो झुगी /झोपडी का कुत्ता निकला ! यह कुत्ता कोई घर का या घाट का बेकार कुत्ता नही है यह झुगी झोपडी का करोड़पति हो जाने की हैसियत रखने वाला कुत्ता है -यह किसी भी 'अपनी गली में शेर बन जाने वाले ' कुत्ते से कम नही अधिक ही हैयह ! इसे अब हलके में मत लीजिये ! इसको लेकर अब सावधान हो जाइए .कुत्तों के दिन भी अब फिर रहे हैं ! देखो देखो देखो वह स्लमड़ाग भी करोड़पति बन गया बे ! हे ब्रितानी भाईयों .हे अमेरिकन भाईयों अरे देखो कैसा घोर कलियुग गया कि अब साले स्लमडाग भी मिलियेनर बन रहे हैं ! अब एक नई कहावत यह भी हो सकती है -स्लमडाग सक्सेस ! सी हाऊ हिन्दी ब्लाग्स हैव अचीव्ड ए स्लम डाग सक्सेस !
डैनी बोयल ने मित्रों, एक तीर से कई शिकार कर लिया है -अपनी नस्लभेदी मानसिकता को बरकरार रखते हुए भारतीय परिवेश की गन्दगी को हमें तो दिखा ही दिया -पश्चिमी दुनिया को उसे बेंच दिया और पुरस्कारों की लाईन में भी लग लिए ! यह है एक टिपिकल अंगरेजी मानसिकता जिसकी भोलेभाले भारतीय भला कहाँ थाह पा सकते हैं ।
स्लम + अंडरड़ाग= स्लमड़ाग के पक्षधरों को इसमे कोई व्यंगोक्ति ,कोई श्लेष (pun),कोई लाक्षणिकता(मेटाफर ) नजर नही आ रही है ! वे इसे अभी अभी ज्ञानदत्त जी द्वारा भी पिछले पोस्ट पर किए गए कमेन्ट में गढे गये नए शब्द -स्लमगाड जैसा पवित्र मान रहे हैं -ठीक वैसे ही जिस तरह मेरे विश्विद्यालयी दिनों में एक छात्रावासी मित्र अपने गाँव से आए दिन आने वाले लोगों को खीज से ग्राम्यदेवता कह कर बुलाता था ! यहाँ वह भाषा की व्यंजनात्मक शक्ति की आड़ ले अपनी खिसियाहट मिटाता था !
तो अब स्लमडाग डैनी बोयल के लिए अगर ग्राम्यदेवता की ही तर्ज पर बकौल ज्ञानदत्त जी स्लमगाड बन गया है तो किसी के लिए क्या आपत्ति हो सकती है ! उस अंग्रेज मानसिकता ने तो एक तीर से कई शिकार कर ही लिए हैं और भोले भाले भारतीय भला उसके मन की थाह कहाँ पा सकते हैं !

27 टिप्‍पणियां:

  1. सटीक
    गणतंत्र दिवस के पुनीत पर्व के अवसर पर आपको हार्दिक शुभकामना और बधाई .

    उत्तर देंहटाएं
  2. गणतंत्र दिवस की आपको हार्दिक शुभकामना !!
    अरे भईया किस किस को समझाओगे, यहां तो सभी.... पढे लिए ही मिलेगे......
    आओ बेठ कर झुथी मुठी ही सही गणतंत्र दिवस मनाये!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. ऐसे ही थोड़े २०० साल अंग्रेज राज कर गए....और अब भी अपरोक्ष रूप से सभी पर कैसे न कैसे प्रभाव छोड़ जाते हैं.
    अंग्रेजी मानसिकता के प्रभाव से न जाने कब मुक्ति मिल पायेगी???

    उत्तर देंहटाएं
  4. गरीबी का मार्केट जमा तो डिजाइनर मड़ई बनने लगेंगी और रीयल एस्टेट कम्पनियां उसी में अरबों कमा लेंगी! :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाए |
    इश्वर हम सभी को अपने कर्तव्यों का पालन कराने की शक्ति प्रदान करे .....

    उत्तर देंहटाएं
  6. गणतंत्र दिवस के पुनीत पर्व के अवसर पर आपको हार्दिक शुभकामना और बधाई .

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुंदर.........गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं

  8. वल्लाह..ज़वाब तुम्हारा नहीं !
    यह निःसंदेह एक बेहतरीन परिकल्पना प्रस्तुति है ।

    उत्तर देंहटाएं

  9. अरे बधाई तो रही जा रही है..
    कृपया मेरा साधुवाद स्वीकार करें !

    उत्तर देंहटाएं
  10. सही कहा. हमें प्रयोग के नये ऑप्षन्स मिल गये. गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  11. सटीक
    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाए...

    उत्तर देंहटाएं
  12. Another metaphor of western world
    fits right along with your astute
    observations, that is
    " Slum Dog Millionaire is " Flavor of the Season " :-)

    Angrezee mei tippani ke liye maafi mang rahee hon
    I'm away from my PC ~~

    उत्तर देंहटाएं
  13. मुझे लगता है इसका ठीकरा सिर्फ निर्देशक के ऊपर फोड़ना बेमतलब है, इसके जिम्मेदार खुद भारतीय फिल्म मेकर ही नही, हम सब भी हैं। जो हर उस फिल्म या बात पर बहस करते हैं जो हमारी दुर्दशा पर बनी हो और हमारी तारीफ दिखाती चीजों को अनदेखा कर देते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  14. अरविन्द जी, हम बोलेगा तो बोलेंगे के बोलता है. (इसलिए इस मुद्दे पर हम चुप ही रहूँगा)

    आपको आपके परिवार एवं मित्रों को गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  15. गनतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

    बहुत लाजवाब लिखा जी आपने.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत बढ़िया ...गणतंत्र दिवस की बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  17. हाय रे मेरे भोले भाले देशवासियों..ऐसा क्यूँ??

    आपको एवं आपके परिवार को गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

    उत्तर देंहटाएं
  18. परसों रात टाईम्स नो चैनल पर फ़िल्म के तीन कलाकार ओर डाइरेक्टर का इंटरव्यू देख रहा था ..यही सवाल पूछा गया ...तो इरफान ने कहा ....हम वास्तिवकता से क्यूँ मुंह मोड़ रहे है ?झुग्गी झोपडी तो हमारे यहाँ है...गाड़ी में चलते हुए हम उनके पास से गुजरते हुए शीशा चढा लेते है पर सुनने ओर देखने में परहेज क्यों .....माना किसी विदेशी ने आकर इस विषय को चुना ओर उसकी मंशा वही है जो आप कह रहे है ....पर सच तो यही है .
    अनिल कपूर बोले की मैंने" मशाल" में भी एक झुग्गी झोपसी में रहने वाले का चरित्र निभाया था ..

    अब दूरदर्शन पर हु चर्चा का जिक्र करते है....

    सड़क पर चलते एक आम आदमी से पूछा गया की आप भारत की ग़लत तस्वीर दिखाने के बारे में क्या सोचते है ?
    तो उसका कहना था ....जाहिर है उनकी मंशा पर संदेह किया जा सकता है पर आप तस्वीर को ठीक करने की कोशिश क्यों नही करते....यहाँ से ४ किलोमीटर दूर आपको झुग्गी मिलेगी ओर बीच के हर चौराहे पर भीख मांगते वहां के बच्चे ....आप मुंह मोड़ लेगे या सिक्का दे देंगे .वे फोटो खीच लेंगे या डाकूमेंटरी बना देंगे ...
    दूसरे ने कहा .ये कुछ ऐसा है जैसा कराची के किसी होटल में लंच करते किसी लड़के से किसी ने पूछा की आपके यहाँ कठमुल्ला वाद ओर आतंकवाद है....उसने कहा आप लोग ग़लत छवि पेश करते हो...हम भी डिनायिल मूड में है .

    तीसरे ने कहा आपने कैमरा लेकर " धारावी " ,भंवर ,बैंडिट क्वीन पर इतनी चर्चा नही की ?पत्रिकाओं में इतने आलेख
    नही थे ?आप भी क्यों तभी पहचानते है जब कोई विदेशी किसी फ़िल्म की वाह वाह करता है ?
    चौथे साहब बोले
    देखिये व्योपारी लोग तो व्योपार करेगे ....ओर किस पैकेज में बाँध कर उसे बेचे ...ये उनकी व्यापारिक सूझ बूझ है..आप देखिये न वे ओबामा को राष्टपति बना कर आंसू पूछते हुए कहते है देखो " हमने काले को राष्टपति बना दिया ...इतिहास बदल डाला ..आप भी तो अपनी फिल्मो में अंग्रेजो को ग़लत दिखाते हो .....

    वैसे मैंने फ़िल्म देखी नही है ....इसलिए सिर्फ़ कुछ चर्चाये बाँट रहा हूँ.....

    उत्तर देंहटाएं
  19. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाए ....

    उत्तर देंहटाएं
  20. हिंदी ब्लाग, स्लमडाग सक्सेस! अंग्रेजी में। क्या बात है!

    उत्तर देंहटाएं
  21. इस नए शब्द पर टिपण्णी बहुत ही रोचक थी| लेकिन हिन्दी ब्लॉग की कामयाबी कभी भी Slumdog Success नही हो सकती | अल्पसंख्या से उठ खड़े होना और फटे हाल से उभारना तो बिल्कुल अलग अलग बातें हैं - आपको मानना पड़ेगा |

    उत्तर देंहटाएं
  22. एक गम्भीर विवेचन, पर बात वही कि सोने वाले का जगाया जा सकता है जागे हुए को नहीं।

    उत्तर देंहटाएं
  23. सर
    अच्छा विस्तृत आलेख/सार्थक विषय-वस्तु
    चिंतन से परिपूर्ण
    बधाइयां

    उत्तर देंहटाएं
  24. आपने 'स्लमडॉग' का सही अर्थ प्रस्तुत किया है।...धन्यवाद। वैसे विषय नया है... फिल्म ऑस्कर का दरवाजा खटखटाने में सक्षम मानी जा रही है... यह खबर हम भारतवासियों
    के लिए खुश-खबर है।

    उत्तर देंहटाएं
  25. good post janaab

    shayari,jokes,recipes,sms,lyrics and much more so visit

    copy link's
    www.discobhangra.com

    http://shayaridilse-jimmy.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  26. nice blog

    shayari,jokes,recipes,sms,lyrics and much more so visit

    copy link's
    www.discobhangra.com

    उत्तर देंहटाएं

यदि आपको लगता है कि आपको इस पोस्ट पर कुछ कहना है तो बहुमूल्य विचारों से अवश्य अवगत कराएं-आपकी प्रतिक्रिया का सदैव स्वागत है !

मेरी ब्लॉग सूची

ब्लॉग आर्काइव